रेलवे प्रशासन ने कॉलोनी वासियों को 10 दिन के भीतर कॉलोनी खाली करने का दिया नोटिस, लोगों में भारी उबाल किया प्रदर्शन

रेलवे प्रशासन ने कॉलोनी वासियों को 10 दिन के भीतर कॉलोनी खाली करने का दिया नोटिस, लोगों में भारी उबाल किया प्रदर्शन

 

 यदि यह रेलवे का अतिक्रमण है तो अधिकारियों ने क्यों होने दिया अतिक्रमण ऐसे अधिकारियों के खिलाफ होनी चाहिए कार्रवाई

रिपोर्ट, न्यूज़ इण्डिया टुडे ब्यूरो

लालकुआं। रेल प्रशासन की ओर से नगीना कॉलोनी से 10 दिन के भीतर कालोनी खाली कराये जाने के नोटिस पर गुस्साएं लोगोें ने नगर में जुलूस निकालकर जमकर प्रदर्शन किया इस दौरान उन्होंने जिला प्रशासन और रेलवे प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की जिसके बाद उन्होंने सूबे मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा और साथ ही चेतावनी दी कि अगर जल्द ही इस और कारवाई नहीं कि गई तो उनके द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।
बताते चलें कि बीते दिनों रेलवे प्रशासन द्वारा नगीना कालोनी में लोगों के घरों के आगे नोटिस चस्पा किए गए थे जिसमें रेलवे प्रशासन ने 10 दिन के भीतर कालोनी खाली करने के आदेश दिए थे जिससे नाराज होकर आज नगीना कॉलोनी के सैकड़ों लोगों ने रेलवे प्रशासन खिलाफ नगर में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया इस दौरान उन्होंने रेलवे प्रशासन पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की।
इस दौरान लोगों ने कहा कि रेलवे प्रशासन उनके घर उजाड़ कर उन्हें बेघर करने की कोशिश कर रहा है उन्होंने कहा कि यदि रेलवे ने अपना निर्णय वापस नहीं लिया तो वह आंदोलन को और तेज करेंगे साथ ही उन्होंने कहा कि वह मांग पूरी होने तक अपना आंदोलन जारी रखेंगे।
वहीं करीब दो घंटे तक कॉलोनी के लोगों ने तहसील में धरना प्रदर्शन किया और बाद में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार सचिन कुमार को सौंपा। इधर दिये ज्ञापन में उन्होंने कहा कि पूर्व में रेलवे प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने के दौरान 50 मीटर की दूरी तक जगह खाली करने का निर्णय लिया था लेकिन अब पूरी कॉलोनी ही खत्म करने के लिए रेलवे कुचक्र रच रहा है उन्होंने कहा कि इस निर्णय को किसी भी हालात में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा उन्होंने कहा कि नगीना कालोनी वासी अपनी इंच जमीन नहीं छोड़ेंगे चाहे इसलिए उन्हें जान क्यों ना देनी पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: