जिलाधिकारी ने किया निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण, महा जून जुलाई से शुरू होगा शिक्षण सत्र

जिलाधिकारी ने किया निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण, महा जून जुलाई से शुरू होगा शिक्षण सत्र

रिपोर्ट, शमीम अहमद प्रधान संपादक

बिजनौर। जिलाधिकारी उमेश मिश्रा द्वारा आज औचक रूप से निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कार्य की प्रगति धीमी गति से पाए जाने तथा सीमेंटेड ब्रिक्स में भी मानक के अनुसा र सामग्री न पाए जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित कार्यदाई संस्था को निर्देश दिए कि पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के साथ माह मार्च,23 तक इस कार्य को पूरा कराना सुनिश्चित कराएं क्योंकि माह जून-जुलाई में मेडिकल छात्र छात्राओं का प्रशिक्षण सत्र प्रारंभ होगा। उन्होंने निर्देश दिए कि आवासीय भवन, क्लासरूम और प्रशासनिक भवन को प्राथमिकता के आधार पर बिजली-पानी सहित सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के साथ पूरा कराना सुनिश्चित करें ताकि शिक्षण सत्र 2023-24 के संचालन में किसी भी प्रकार का कोई व्यवधान उत्पन्न न होने पाए। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार का समझौता स्वीकार नहीं किया जाएगा।
जिलाधिकारी श्री मिश्रा आज पूर्वाहन में मेडिकल कॉलेज का अकास्मिक निरीक्षण करते हुए उपस्थित संबंधित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने कार्यदाई संस्था के अधिकारी को निर्देशित किया कि निर्माण कार्य में अपेक्षित प्रगति लाएं और यथासंभव माह मार्च 2023 तक प्रशासनिक भवन, आवासीय भवन एवं क्लासरूम तथा उससे संबंधित अन्य भवनों का निर्माण शत-प्रतिशत रूप से पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि इसी वर्ष माह जून – जुलाई में शैक्षिक सत्र प्रारंभ होगा जिसमें मेडिकल के छात्र छात्राओं को पूरे मानकों के चिकित्सकीय शिक्षा साथ उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य मुख्यमंत्री जी के प्राथमिकता वाले कार्यों में से एक है, अतः इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देशित किया कि मेडिकल कॉलेज के लिए विद्युत लाइन में किसी भी प्रकार का अवरोध पाया जाए तो उसे तत्काल दूर करते हुए विद्युत आपूर्ति सुचारू कराएं और निर्मित भवनों में विद्युत कनेक्शन प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कार्यदाई संस्था के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य में प्रयोग होने वाली सामग्री, उपकरण सहित सभी कार्य मानक के अनुरूप पूरे कराए जाए तथा शिक्षण कार्य के लिए तैयार होने वाले भवनों में विद्युत, पानी का कनेक्शन तथा अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाएं निर्धारित मानकों के अनुरूप पूरी कराएं ताकि किसी भी स्तर पर शिक्षण एवं प्रशिक्षण कार्य में असुविधा न होने पाए।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा, अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: