Indian Railways,, 3000,, नई ट्रेनें चलाने पर व‍िचार,जानें क्या है रेल मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्‍णव का प्लान

Indian Railways,, 3000,, नई ट्रेनें चलाने पर व‍िचार,जानें क्या है रेल मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्‍णव का प्लान

 

ऐसा लगता है कि
Indian Railways कुछ बड़ी योजना बना रही है। समचाार एजेंसी PTI के मुताबिक, भारतीय रेलवे अपने नेटवर्क में अगले चार-पांच साल के दौरान 3000 नई अतिरिक्त ट्रेने जोड़ने की प्लानिंग में हैं ताकि यात्रियों की बढ़ती संख्या को आसानी से टिकट मिल सके।

1000 करोड़ यात्री क्षमता का लक्ष्य

रेल मंत्री (Railway Minister) अश्विनी वैष्णव ने कहा, ‘अभी रेलवे में हर साल करीब 800 करोड़ यात्री सफर करते हैं। हमें बढ़ती आबादी के हिसाब से अगले चार-पांच सालों में 1000 करोड़ यात्रियों के हिसाब से क्षमता बढ़ानी है।’ उन्होंने आगे कहा कि इसके लिए हमें 3000 अतिरिक्त ट्रेनों की जरूरत है। बढ़े हुए यात्रियों के हिसाब से इन ट्रेनों की कई ट्रिप ऑपरेट की जाएंगी।

पीटीआई की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि रेलवे के पास 69,000 नए कोच उपलब्ध हैं। और सब्सिडियरी कंपनी हर साल 5000 नए कोच मैन्युफैक्चर कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, रेलवे हर साल 200 से 250 नई ट्रेनें शुरू कर सकता है। इसके अलावा 400 से 450 वंदे भारत ट्रेनें भी हैं जिन्हें आने वाले सालों में रेलवे के बेड़े में शामिल किया जाएगा।

केंद्रीय रेल मंत्री ने आगे कहा कि उनका मंत्रालय ट्रेनों की स्पीड सुधारने और रेल नेटवर्क को एक्सपेंड करने पर काम कर रहा है।

ट्रेनों की स्पीड सुधारने पर भी काम

PTI से बातचीत में अश्विनी वैष्णव ने कहा, ‘लंबे रूट की ट्रेन को गति देने और धीमा करने में लगने वाले समय को कम करना महत्वपूर्ण है क्योंकि निर्धारित स्टॉपेज के अलावा,रास्ते में कई बार सावधानी के चलते और मोड़ों पर इसकी गति कम करनी पड़ती है।’

उन्होंने कहा, ‘अगर हम राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली-कोलकाता मार्ग लेते हैं, और अगर हम मोड़, स्टेशनों और सावधानियों पर तेज और धीमी स्पीड के समय में सुधार करते हैं, तो हम वर्तमान कुल यात्रा समय से दो घंटे और 20 मिनट बचाएंगे।’

त्योहारी सीजन में इस साल चली तीन गुना स्पेशल ट्रेन

अश्विन वैष्णव ने कहा कि इस साल रेलवे ने त्योहार सीजन में स्पेशल ट्रेनों की संख्या में लगभग 3 गुना का इजाफा क्या है भीड़ को कंट्रोल करने के लिए इस साल 1 अक्टूबर से 31 दिसंबर के बीच 6754 स्पेशल ट्रेन ऑपरेट की जा रही है जबकि पिछले साल इसी समय इसकी संख्या सिर्फ 2,614 थी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: