बुजुर्गाें के बुढ़ापे की लाठी बनेगा स्वास्थ्य विभाग

बुजुर्गाें के बुढ़ापे की लाठी बनेगा स्वास्थ्य विभाग

 

 

ब्यूरो रिपोर्ट

बिजनौर। बुढ़ापा तो सभी को आता है। किसी को बुढ़ापे में सुविधा मिलती है तो किसी को परेशानी। सरकार ने बुजुर्गों की इसी परेशानी को कम करने के लिए वृद्धावस्था केयर की शुरूआत की है। अब स्वास्थ्य विभाग उनके बुढ़ापे की लाठी बनेगा। उम्र के साथ बढ़ने वाली बीमारियों का स्वास्थ्य केंद्र पर ही निवारण किया जाएगा। सरकार ने बुजुर्गों का ख्याल रखने के लिए वृद्धावस्था केयर कार्यक्रम शुरू किया है। यह कार्यक्रम स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्रों पर संचालित होगा। जिले में करीब 258 स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र हैं। इनमें से 335 पर ही सीएचओ (सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी) की तैनाती है। जिसके चलते अभी वृद्धावस्था केयर कार्यक्रम जिलेभर के 335 केंद्रों पर शुरू किया जा रहा है। इसके लिए सभी सीएचओ को जिला मुख्यालय पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्हें बुजुर्गों का ख्याल रखने के बारे में बताया जा रहा है। 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों का वृद्धावस्था केयर पर ख्याल रखा जाएगा। वृद्धावस्था केयर पर बुजुर्गों को दी जाएंगी ये सुविधाएं, डॉ. समीर भटनागर का कहना है,कि स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र पर वृद्धावस्था केयर कार्यक्रम के तहत बुजुर्ग मरीजों का ध्यान रखा जाएगा। बुजुर्गों में आंखों की समस्या, सुनने की समस्या, गिरने से चोट लगना, पेशाब निकल जाना, मुंह के स्वास्थ्य की समस्या, हाई ब्लडप्रेशर की समस्या, डायबिटीज, भूलने की समस्याओं का इलाज किया जाएगा। केंद्र पर मरीजों की भी होगी काउंसलिंग डीसीपीएम पूनम रानी ने बताया कि वृद्धावस्था केयर बुजुर्ग के लिए पहली और अच्छी सुविधा है। इस कार्यक्रम के तहत बुजुर्ग मरीजों की काउंसलिंग भी की जाएगी। कभी-कभी बुजुर्गों की अधिक उम्र होने पर मानसिक स्थिति भी खराब होती है। इसकी वजह से घरवाले भी परेशान रहते हैं। उनकी समस्या समझकर उन्हें समझाया भी जाएगा। इसका प्रशिक्षण सभी सीएचओ को दिया जा रहा है। जिले में हो रहा बुजुर्गो का चिह्निकरण वृद्धावस्था केयर के लिए बुजुर्गों का चिह्निकरण भी किया जा रहा है। चिह्निकरण के बाद यह साफ हो जाएगा कि किस स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र पर कितने बुजुर्ग हैं। यह कार्यक्रम बुजुर्गों के लिए काफी फायदेमंद है। सरकार की ओर से यह अच्छा कदम है। जो बुजुर्ग गांव से दूर अपना इलाज कराने नहीं जा पाते हैं, उनके लिए स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र पर ही सुविधा दी जा रही है। वृद्धावस्था केयर के तहत बुजुर्गों का ख्याल रखा जाएगा। – डॉ. विजय कुमार गोयल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, बिजनौर,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: