जिलाधिकारी ने निपुण भारत कार्यक्रम के अंतर्गत लापरवाही बरतने वाले खंड शिक्षा अधिकारी ब्लॉक अफजलगढ़ एवं मोहम्मदपुर देवमल के विरुद्ध चेतावनी जारी करने के बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिए निर्देश*

जिलाधिकारी ने निपुण भारत कार्यक्रम के अंतर्गत लापरवाही बरतने वाले खंड शिक्षा अधिकारी ब्लॉक अफजलगढ़ एवं मोहम्मदपुर देवमल के विरुद्ध चेतावनी जारी करने के बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिए निर्देश

 

 

 

शमीम अहमद

बिजनौर। जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने निपुण भारत कार्यक्रम के अंतर्गत लापरवाही बरतने के दृष्टिगत खंड शिक्षा अधिकारी ब्लॉक अफजलगढ़ एवं मोहम्मदपुर देवमल के विरुद्ध चेतावनी जारी करने के बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने स्कूलों में अनुपस्थित पाए जाने वाले अध्यापकों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए उनका वेतन आहरित न करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निपुण भारत मिशन राज्य सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों में शामिल है, जिसका उद्देश्य बेसिक शिक्षा को गुणवत्ता परक बनाना और उनमें बौद्धिक क्षमता पैदा करना है। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में किसी भी स्तर पर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। जिलाधिकारी श्री अग्रवाल आज कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा विदुर सभागार में बेसिक शिक्षा विभाग के विभिन्न कार्य कर्मों निपुर्ण भारत मिशन के प्रभावी क्रियान्वयन एवं नियमित अनुश्रवण/समीक्षा के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि 25 एवं 26 फरवरी 2024 को माध्यमिक शिक्षा के सभी सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत 6 से 12 वीं कक्षा तक के सभी विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन टेस्ट का आयोजन किया जाएगा, जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों में गणित, विज्ञान एवं अन्य महत्वपूर्ण विषयों में विशेष रुचि पैदा करना एवं उनमें उनको निपुण बनाना है। उन्होंने बताया कि टेस्ट में सर्वाधिक नंबर लाने वाले 100 बच्चों का चिन्हिकरण कर उन्हें विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने सभी अध्यापकों को निर्देश दिए कि उक्त टेस्ट में ज्यादा से ज्यादा बच्चों को भागीदारी बनाने के लिए सभी छात्र-छात्राओं का ऑनलाइन पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें और इसी के साथ उनका टेस्ट क्वालीफाई करने के लिए प्रशिक्षित भी करें, ताकि अच्छे नंबर लाने वाले छात्र-छात्राओं को प्रमोट किया जा सके। उन्होंने ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत निर्धारित 19 पैरामीटर यथा पुरुष व महिला के लिए अलग-अलग शौचालय, टाइलीकरण आदि पैरामीटर में प्रभावी ढंग से प्लान बनाकर सभी स्कूलों में इनकी उपलब्धता सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव के दृष्टिकोण से सभी विद्यालयों में आवश्यक न्यूनतम सुविधाएं यथा पेयजल, शौचालय, लाइट, फर्नीचर जैसी व्यवस्थाएं अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। उन्होंने ऑपरेशन कायाकल्प में अवशेष स्कूलों को निर्धारित मानकों के अनुरूप मार्च,2024 तक शत प्रतिशत रूप से संतृप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित विभागीय अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि जिले में कोई भी स्कूल बिना बाउंड्री के नहीं पाया जाना चाहिए। उन्होंने गोद लिए हुए स्कूलों की समीक्षा करते हुए पाया कि कुछ कुछ विद्यालयों में मानकों के अनुरूप निपुण भारत मिशन के अंतर्गत प्रगति नहीं हुई है। उक्त संबंध में उन्होंने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि यथाशीघ्र निर्धारित पैरामीटर के अनुरूप सभी स्कूलों को संतृप्त करना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा, बेसिक शिक्षा अधिकारी जयकरण यादव, सभी खंड शिक्षा अधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: