पत्नी के संग मिलकर बेटे ने मां के खून से रंग लिए हाथ,

पत्नी के संग मिलकर बेटे ने मां के खून से रंग लिए हाथ,

 

 

शमीम अहमद

बिजनौर/नगीना। फिरोजा हत्याकांड में पुत्र और पुत्रवधू को गिरफ्तार करके पुलिस ने खुलासा कर दिया है। दरअसल 12 बीघा जमीन की खातिर बेटे ने अपनी मां के खून से हाथ रंग लिए और गला काट दिया था। आरोपी की पत्नी ने भी सास की हत्या में पूरा साथ दिया। अब पुलिस ने मृतका के बेटे और पुत्रवधू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
नगीना देहात थाना क्षेत्र के ग्राम अजूपुरा रानी में बृहस्पतिवार की रात्रि फिरोजा 60 वर्ष की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस को घर के कमरे में बुजुर्ग महिला फिरोजा मृत अवस्था में मिली थी। मौके पर मिले मृतका के पुत्र दानिश ने पुलिस को भ्रमित करने के उद्देश्य से बताया था कि वह अपनी पत्नी को दवाई दिलवाने नजीबाबाद गया था तथा घर आने पर मां फिरोजा मृत अवस्था में मिली। घटना के बाद मृतका की पुत्री अंजुम ने अपनी भाभी उजमा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने घटना के खुलासे के लिए कई बिंदुओं पर जांच करने के बाद मृतका के सगे पुत्र दानिश व उसकी पत्नी उजमा को गिरफ्तार कर लिया। जिनका चालान कर जेल भेज दिया गया।
सुबह हत्या कर शाम को घर लौटे
फिरोजा की हत्या उसके बेटे और पुत्रवधु ने सुबह साढ़े दस बजे कर दी थी। इसके बाद दोनों ने घर का दरवाजा बंद किया और छत के रास्ते घर से निकल गए। इसके बाद अल्ट्रासाउंड कराने के बहाने दोनों दिनभर इधर उधर रहे। शाम को घर लौटते ही किसी और के द्वारा हत्या करने का शोर मचा दिया।
बेटी को जमीन देना चाहती थी मृतका
मृतका के नाम पर करीब 12 बीघा जमीन थी, बेटे और पुत्रवधु के उत्पीड़न से तंग आकर वह कभी कभी अपनी बेटी को जमीन देने की बात कह दे देती थी। जमीन बेटी के नाम न कर दें, इसलिए ही मृतका के बेटे और पुत्रवधु ने हत्या करने की योजना बनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: